भले कुछ स्वार्थी लोगों ने इसको बेच डाला है, मगर सच्ची कलम अन्याय के आगे नहीं हारी

भले कुछ स्वार्थी लोगों ने इसको बेच डाला है, मगर सच्ची कलम अन्याय के आगे नहीं हारी
भले कुछ स्वार्थी लोगों ने इसको बेच डाला है, मगर सच्ची कलम अन्याय के आगे नहीं हारी
{$excerpt:n}

test